सद्गुरु कहते हैं, ‘दिवाली पर पटाखों को ‘बैन’ मत कीजिए।’ जानिए क्यों?

0
15
Advertisement


बच्चों को पटाखों का आनंद अनुभव करने से….

जब देश में पटाखों पर प्रतिबंध लगाने की बहस गर्म हो रही है, तो ईशा फाउण्डेशन के संस्थापक, सद्गुरु ने पटाखों पर संपूर्ण बंद लगाने का विरोध किया है और उसका एक आसान विकल्प सुझाया है।

इस विषय को ट्विटर पर उठाते हुए आध्यात्मिक गुरु ने कहा, ‘बच्चों को पटाखों का आनंद अनुभव करने से रोकने का कारण वायु प्रदूषण की चिंता नहीं है। आप उनके लिए त्याग कीजिए और अपने ऑफिस तीन दिन तक पैदल जाइए, और उन्हें पटाखे फोड़ने का आनंद लेने दीजिए।

इससे पहले, सोमवार को सुप्रीम कोर्ट की एक विशेष पीठ ने कहा कि हो सकता है कि पटाखों पर संपूर्ण प्रतिबंध संभव न हो। यह उन्होंने संपूर्ण प्रतिबंध के लिए कोलकाता हाई कोर्ट के आदेश को ‘बहुत कठोर’ बताते हुए कहा। पीठ ने टिप्पणी की कि पटाखों में जहरीले केमिकल्स के इस्तेमाल को रोकने के लिए प्रबंध करना होगा।

हर किसी को दीवाली की शुभकामनाएं देते हुए सद्गुरु ने आगे कहा, ‘संकट के समय में, जो आपको अंधेरे में ढकेल सकता है, आनंद, प्रेम, और चेतना से चमक उठना महत्वपूर्ण है। इस दीवाली पर, अपनी मानवता को अपनी पूरी गरिमा में उजागर कीजिए। प्रेम व आशीर्वाद।’














Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here